कानपुर और उन्नाव के डीएम हैं यह खूबसूरत IAS दम्पति, 12 साल पहले भी जोड़े ने संभाली थी दोनों जिलों की कमान

शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में हुए प्रशासनिक फेरबदल के तहत आईएएस अफसर अपूर्वा दुबे को उन्नाव की जिलाधिकारी बनाकर भेजा गया है। इसके साथ ही राज्य की ब्यूरोक्रेसी में 12 साल पुराना इतिहास दोहराया गया है।

दरअसल, अपूर्वा दुबे के पति विशाख जी अय्यर कानपुर के जिलाधिकारी हैं। इस तरह यह खूबसूरत आईएएस जोड़ा पड़ोसी जिलों कानपुर और उन्नाव की कमान संभालेगा। ठीक 12 साल पहले एक आईएएस दंपति ने इन दोनों जिलों की एक साथ बतौर कलेक्टर कमान संभाली थी।

12 साल पहले अनीता मेश्राम और मुकेश मेश्राम बने थे डीएम

यह वर्ष 2010 की बात हैं। तत्कालीन सरकार ने आईएएस दंपति मुकेश मेश्राम और अनिल मेश्राम को एकसाथ स्थानांतरित करके कानपुर और उन्नाव भेजा था। तब उन्नाव की जिलाधिकारी अनीता मेश्राम को बनाया गया था और कानपुर में मुकेश मेश्राम को कलेक्टर बनाकर भेजा गया था।

दोनों पड़ोसी जिलों में डीएम थे। अब अनीता मेश्राम और मुकेश मेश्राम उत्तर प्रदेश की ब्यूरोक्रेसी में बड़ा मुकाम हासिल कर चुके हैं। दोनों ने उस वक्त उन्नाव और कानपुर में बतौर कलेक्टर अच्छी पारी खेली थी।

विशाख 2011 बैच और अपूर्वा 2013 बैच की आईएएस

कानपुर के जिलाधिकारी विशाख जी अय्यर वर्ष 2011 और उन्नाव की डीएम अपूर्वा 2013 बैच की आईएएस अधिकारी हैं। दोनों ने साल 2019 में सात फेरे लिए थे। शादी कार्यक्रम विशाख के पैतृक गांव इडुक्की (केरल) में आयोजित हुआ था। वह मलयाली ब्राह्मण हैं।

अपूर्वा यूपी के देवरिया जिले के बंभनियाव गांव की निवासी हैं। वह डा.संजय दुबे की छोटी पुत्री हैं। अपूर्वा ने 2013 में यूपीएससी टॉपर रही हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.