देशभर में आज मनाया जा रहा प्रकाश पर्व, जानिए इस दिन का महत्व

आज यानी 8 नवंबर दिन मंगलवार को देशभर में गुरु नानक जयंती मनाई जा रही है इसे प्रकाश पर्व और गुरु पर्व के नाम से भी जाना जाता है हर साल कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को सिख धम्र के प्रथम देव गुरु, गुरु नानक देव जी की जयंती का पर्व मनाया जाता है। 

आपको बता दें कि गुरु नानक साहब का जन्म कार्तिक पूर्णिमा तिथि पर पाकिस्तान में स्थित श्री ननकाना साहिब में हुआ था। इस दिन सभी गुरुद्वारों में भजन, कीर्तन किया जाता है प्रभात फेरियां निकाली जाती है। 

लंगर भी खिलाया जाता है तो आज हम आपको अपने इस लेख द्वारा गुरु नानक जयंती से जुड़ी जानकारी प्रदान कर रहे हैं तो आइए जानते हैं।धार्मिक ग्रंथों के अनुसार सिखों के प्रथम गुरु गुरु नानक देव जी का जन्म 1469 में पंजाब प्रांत के तलवंडी में हुआ था। 

ये स्थान अब पाकिस्तान में है इस स्थान को नानकाना साबित के नाम से जाना जाता है इस धर्म को मानने वाले लोगों के लिए यह स्थल बेहद पवित्र और पूजनीय है आपको बता दें कि गुरु नानक देव की माता का नाम तृप्ता और पिता का नाम कल्याणचंद्र था।

गुरु नानक देव बालपन से ही अपना अधिक से अधिक वक्त चिंतन में बिताते थे। वे सांसारिक बातों का मोह नहीं रखते थे इनका पूरा जीवन मानव हित के लिए समर्पित था। आपको बता दें कि गुरु नानक देव की जयंती सिख धर्म में मनाया जाने वाला सबसे प्रमुख और बड़ा पर्व माना जाता है। 

इसी पवित्र दिन को प्रकाश पर्व और गुरु पर्व के नाम से भी जाना जाता है इस दिन पूजा पाठ और ध्यान का भी महत्व होता है।  

Leave A Reply

Your email address will not be published.