सावधान! दिल्ली-यूपी में काले बादलों ने डाला डेरा, IMD ने इन राज्यों में दी गरज के साथ भारी बारिश की चेतावनी

देशभर में इन दिनों मानसूनी बारिश का दौर जारी है, जिससे बाढ़ का खतरा लोगों को सता रहा है। कई राज्यों में तो घनी बारिश होने से नदी, नाले और तालाब सब लबालब हैं, जिससे कुछ शहरों की सड़कों पर भी पानी देखने को मिल रहा है।

मूसलाधार बारिश होने से देशभर में अब तक करीब 150 लोगों की जान जा चुकी है। दक्षिणी भारत में अभी भी तेज बारिश का दौर जारी है। भारतीय मौसम विभाग ने यूपी सहित कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है।

इन राज्यों में होगी तेज बारिश

आईएमडी के मुताबिक, 31 जुलाई से 2 अगस्त के दौरान तटीय आंध्र प्रदेश, 29 से 2 अगस्त तक तटीय कर्नाटक, केरल और मोहे में बारिश होने की संभावना बनी हुई है। आईएमडी ने 31 जुलाई से 2 अगस्त तक तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में तेज बारिश की चेतावनी जारी कर दी है।

उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश और असम में गरज के साथ बिजली की गरज के साथ झमाझम बारिश होने की संभावना जताई गई है। आगामी 4 दिनों के दौरान पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में भारी बारिश की गतिविधियां जारी रहने की उम्मीद है। पश्चिम बंगाल में 31 जुलाई को मध्यम से तेज बारिश का अनुमान लगाया गया है।

उत्तराखंड के इन हिस्सों में होगी भारी बारिश

आईएमडी के अनुसार, उत्तराखंड के देहरादून, नैनिताल, टिहरी, पौड़ी, चम्पावत और बागेश्वर के लिए भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। 31 जुलाई से 1 अगस्त तक भारी बारिश देखने को मिल सकती है।

यूपी सहित इन राज्यों में होगी भारी बारिश

आईएमडी के मुताबिक, यूपी के कई जिलों में आज बारिश होने की संभावना बनी है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज गरज के साथ बारिश की गतिविधियां होने की उम्मीद हैं। गाजियाबाद और नोएडा में भी गरज के साथ एक-दो बार बारिश देखने को मिल सकती है।

जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल और मैदानी राज्यों में यूपी, मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में गरज के साथ भारी बारिस की चेतावनी जारी की गई है। राजस्थान, पंजाब, हरियाणा के साथ पूर्वोत्तर भारत के सिक्किम, असम और मेघालय में हल्की से मध्यम बारिश देखने को मिल सकती है। वहीं गुजरात के साथ दक्षिण भारत की बात करें तो तटीय तमिलनाडु, तटीय आंध्र प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश होने की संभावना बनी हुई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.