सर्वाइकल को न करे नज़रअंदाज, जानिए लक्षण और उपचार

कई बार लोग गर्दन दर्द को नजरअंदाज कर देते हैं हालाँकि इसी दर्द के कारण हाथ-पैर में सुन्नता और कमजोरी आ सकती है। जी हाँ और यह परेशानी हड्डियों से जुड़ी है, इसके होने पर कंधों, गर्दन आदि में बहुत तेज़ दर्द होता है जिसे हम सर्वाइकल का दर्द कहते हैं।

आप सभी को बता दें कि इस तरह की समस्या किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। वहीं आज के दौर में अनियमित दिनचर्या के कारण लगभग हर तीसरे व्यक्ति को सर्वाइकल की परेशानी हो जाती है।

हम आपको बताते हैं सर्वाइकल होने के कारण और इसी के साथ सर्वाइकल के लक्षण :

# सर्वाइकल होने के कारण :

जोनस हॉपकिंस मेडिसिन के अनुसार गलत पोजीशन में सोने से आपको सर्वाइकल पेन होने की समस्या हो सकती है। इसके अलावा भारी वजन को सिर पर उठाने से भी कई लोगों को सर्वाइकल पेन होता है।

इसी के साथ अगर आप गर्दन को बहुत देर तक झुकाए रखते हैं तो आपको सर्वाइकल पेन हो सकता है। इसी के साथ अगर आप बहुत देर तक एक ही पोजीशन में बैठे रहते है तो आपको सर्वाइकल पेन शुरू हो जाता है।

इसी के साथ ऊंचे और बड़े तकिये पर सोने से भी सर्वाइकल पेन होता है। इन सभी के अलावा गलत उठने, बैठने और सोने के तरीकों के कारण भी सर्वाइकल की परेशानी हो सकती है।

# सर्वाइकल के लक्षण :

  • सिर में बहुत तेज़ दर्द होना
  • गर्दन को हिलाने पर हड्डियों से आवाज़ का आना।
  • हाथ, बाजू और उंगलियों में कमजोरी, झनझनाहट महसूस होना या उनका सुन्न पड़ जाना
  • हाथ और पैरों में कमजोरी होने के कारण चलने में समस्या होना और अपना संतुलन खो देना
  • गर्दन और कंधों पर अकड़न रहना
Leave A Reply

Your email address will not be published.