बरसात में अधिक होता है डायरिया, जानिए कारण-लक्षण और क्या खाना है-क्या नहीं

बारिश के समय में डायरिया हो जाता है। वैसे तो यह एक आम समस्या है, लेकिन इससे शरीर में जबरदस्त कमजोरी आ जाती है। जी हाँ और डायरिया पाचन तंत्र संबंधित एक डिसऑर्डर है। जिसमें मल पानी की तरह पतला होता है।

आज हम आपको बताते हैं इसके कारण, लक्षण और डायरिया में क्या खाए और क्या ना खाए :

डायरिया के कारण :

डायरिया होने का मुख्य कारण वायरल या बैक्टीरियल इंफेक्शन होता है। जी हाँ, हालांकि, डायरिया होने के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं, जैसे आईबीडी जो आंतों में होने वाली एक समस्या है, जिसमें मल में खून आना जैसे दस्त के लक्षण पैदा कर सकता है।

जी दरअसल इंफ्लेमेटरी बाउल डिजीज के कारण आपकी बड़ी आंत और मलाशय के सबसे भीतरी लाइनिंग में अल्सर का कारण बनती है। इसी के साथ जब आपका पाचन तंत्र भोजन से पोषक तत्वों को अवशोषित करने में विफल हो जाता है, तो आपको डायरिया के लक्षण नजर आ सकते हैं।

डायरिया के लक्षण :

  • जी मिचलाना
  • पेट दर्द
  • लूज मोशन
  • सूजन
  • डिहाइड्रेशन
  • बुखार
  • मल में खून आना

डायरिया में क्या खाए :

# डायरिया के बाद शरीर में इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस को बनाए रखना बहुत जरूरी है। जी हाँ और इसके लिए पर्याप्त मात्रा में पानी और जूस का सेवन करें।

# इसी के साथ सूप, केला, छिलके रहित आलू के अलावा चावल, उबली सब्जियां, मछली, बीफ, और चिकन जैसी चीजे डिहाईड्रेशन की समस्या से उभरने में मददगार साबित हो सकती है।

# डायरिया में क्या ना खाए- डायरिया होने पर डेयरी प्रोडक्ट्स के सेवन से बचें, क्योंकि इसे पचाना आपके लिए मुश्किल हो सकता है।

# आप फाइबर से भरपूर सब्जियां जैसे गोभी और बीन्स का सेवन ना करें, क्योंकि इससे पेट फूल सकता है। इसी के साथडायरिया के लक्षण नजर आ रहे हैं।

# कैफीन युक्त पेय पदार्थ जैसे सोडा, चाय और कॉफी भूलकर भी ना लें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.