घर बनाने का सपना अब होगा सच, सरकार ने बनाया मास्टर प्लान

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पानीपत नगर निगम ने मास्टर प्लान तैयार किया है। इसमें 25 कर्मचारी लाभार्थियों की लिस्ट पर सर्वे करेंगे। शहर में 1600 लाभार्थी हैं जिसमें से 100 परिवारों को ही अभी तक लाभ दिया जा सका है।

पार्षदों से ली जाएगी रिपोर्ट

कर्मचारी जब अपनी रिपोर्ट कमिश्नर को देंगे तो पार्षदों से वार्ड स्तर पर रिपोर्ट ली जाएगी। इससे कर्मचारियों व पार्षदों से ली गई रिपोर्ट मिलने पर ही कहा जा सकेगा कि काम पूरा हो गया है। यदि काम में कोई खामियां मिली तो कर्मचारियों पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

बता दें नगर निगम कमिश्नर यशेंद्र सिंह ने कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लगे कर्मचारियों की बैठक ली थी। इसमें कर्मचारियों को साफ निर्देश दिए गए है कि एक-एक कर्मचारी प्रतिदिन 25 परिवारों की पहचान कर उन्हें लाभ देना सुनिश्चित करें। इसके तहत हर सप्ताह कर्मचारियों से रिपोर्ट ली जाएगी।

उल्लेखनीय है कि 2016 में शहर का सर्वे हुआ था लेकिन अभी तक प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लोगों को नहीं मिल पाया है। इसके चलते लोग नगर निगम के चक्कर काट रहे है। अब इस कार्य में तेजी लाने के लिए कर्मचारियों की संख्या बढ़ाई गई है। 2022 के अंत तक सभी लाभार्थियों को लाभ देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

जानकारी के मुताबिक लाभार्थियों को पहली क़िस्त मिलने के बाद दूसरी व तीसरी किस्त लेने के लिए नगर निगम कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ रहे है। इसके साथ ही लोगों ने कर्मचारियों पर पैसे मांगने के भी आरोप लगाए है.

बता दें पहले किस्त डालने के बाद 15 दिन के अंदर कर्मचारी रिपोर्ट लेंगे और दूसरी क़िस्त भी अगले 15 दिन के अंदर खाते में डाली जाएगी। वही कमिश्नर यशेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री योजना के तहत लाभार्थी को जल्द से जल्द लाभ देने के लिए निर्देश दिए गए है और हर सप्ताह इसकी रिपोर्ट ली जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.