कर्मचारी हुए मालामाल, सरकार ने कर दिया दिल जीतने वाला ऐलान

कुछ समय पहले ही केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव ने यह एलान किया है कि सभी कर्मचारियों और नियोक्ताओं के बीच बेहतर सहयोग और सामंजस्य के लिए जल्द से जल्द नई लिटिगेशन पॉलिसी आने वाली है।

दोनों के बीच विवाद जैसी स्थिति कम करने और अधिकार सुरक्षित रखने के लिए श्रम मंत्रालय द्वारा यह फैसला लिया गया है। साथ ही आप को यह भी बता दें कि सभी पेंशनभोगियों के लिए भी सरकार ने कुछ बड़े कदम उठाए हैं।

EPFO बोर्ड ने डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट के लिए Face Authentication Technology के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है।

यह नया फेस रिकग्निशन ऑथेंटिकेशन उन बुढ़े वृद्ध पेंशनर्स की मदद करने में सक्षम साबित होगी जो की जीवन प्रमाण पत्र को जमा करने के लिए अपने बुढ़ापे की अवस्था में अपने बायो-मेट्रिक्स (फिंगर प्रिंट और आइरिस) प्राप्त करने जैसी कठिनाइयों का सामना करते हैं।

इस के साथ साथ ही श्रम मंत्रालय ने हाल ही में यह भी बताया हौ कि केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव, जो ईपीएफओ के शीर्ष निर्णय लेने वाले निकाय, केंद्रीय न्यासी बोर्ड के अध्यक्ष हैं, ने पेंशनभोगियों के लिए फेस रिकग्निशन ऑथेंटिकेशन की तकनीक शुरू की है।

इसलिए मिली मंजूरी

कुछ समय पहले ही सीबीटी ने अपने 231वीं मीटिंग में सभी पेंशनर्स को मिलने वाले ईपीएफओ की सेवाओं में अतितृल्त सुधर लाने के लिए केंद्रीकृत वितरण के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। इसलिए आप को बता दें कि अब सीबीटी के द्वारा Central Pension Payment System for Pensioners को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी गई है।

इस के साथ साथ ही अब पेंशन की जानकारी प्राप्त करने के लिए भी पेंशनर्स के लिए डिजिटल कैलकुलेटर की भी मंजूरी मिल गई है। सरकार का यह बड़ा कदम माना जा रहा है, जिसे लेकर पेंशनभोगियों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है।

सरकार इस फैसले को करने पर काफी दिनों से विचार कर रही थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.